top of page
  • kewal sethi

 the trinity

 the original trinity


The original trinity of gods in hindu mythology is varuna, mitra and aryaman, three aspects of sun, the first creating, the second maintaining and third destroying. This is said to originate with solar cult creating with its warmth, preserving with his light and destroying with his burning rays. They were sometimes though of as three separate gods and sometimes, the three aspects of the same.

this was succeeded by another trinity viz. indra, agni and vayu again representing three importsnt natural forces. aditya was considered to be one form of agni.

over time they gave way to another trinity, brahma, vishnu, mahesh performing the same functions as aryaman and thought of as one or different from each other according to the context. Only vishnu as preserver could have avtars.

1 view

Recent Posts

See All

संग्रहण बनाम जीवन

संग्रहण बनाम जीवन सभ्यता का आरम्भ मनुष्य द्वारा प्रकृति पर नियन्त्रण के प्रयास के साथ हुआ। जीवन को सुखमय बनाना ही लक्ष्य रहा। अग्नि को स्वयं प्रजलवित करने से शुरू हुआ यह अभियान काफी सफल हुआ किन्तु औद्

बौद्धिक वेश्या

बौद्धिक वेश्या — राम मोहन राय राजा राम मोहन राय को शिक्षा तथा समाज सुधारक के रूप में प्रचारित किया गया है। उन के नाम से राष्ट्रीय पुस्तकालय स्थापित किया गया है। परन्तु उन की वास्तविकता क्या थी, यह जान

हम सब एक की सन्तान हैं

हम सब एक की सन्तान हैं मौलाना अरशद मदानी ने कहा कि ओम और अल्लाह एक ही है। इस बात के विरोध में जैन साधु और दूसरे सदन से उठकर चले गए। हिंदू संतों ने इस का विरोध किया है। मेरे विचार में विरोध की गुंजाइश

bottom of page